इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.

रविवार, 12 सितंबर 2010

सभी छिछोरों से मुखातिब हूं .........



कुछ भी पढने से पहले आप ये पोस्ट पढ लीजीए । ..और इसके बाद ..अंदाज़ा लगाईये कि ....इसके बाद जब ये पोस्ट आई है ...तो स्थिति कैसी होगी मेरी .........। तो मैं आप सबको और साथ ही उन तमाम छिछोरों को भी बताता चलूं कि आज मैं उन्हीं से मुखातिब हूं ......सरे शाम न सही .....सरे आम ही सही .........।

अब जैसे ही हरी बत्ती जलती है .....जलती क्या है ..कहिए कि जली ही रहती है हमेशा .....मगर ये हरी बत्ती का असर कुछ छिछोरों पर रेड लाईट .......की तरह का होता है ...और वे मुएं लपक लेते हैं । तो उन तमाम छिछोरों से आज यहीं कह डालता हूं कि .....अबे ए ....आई एम नॉट ए गे .........आई एम गेट वे और इंडिया , आई एम लाल किला , आई एम कुतुब मीनार........दफ़ा हो जाओ ....।


मगर किया क्या जाए जी .......अब तो पट्ठों को सुप्रीम कोर्ट तक से फ़ैसिलिटी मिल रही है ....परेड झांकियां तक निकल रही हैं ........रैली निकल रही हैं ......जुलूस भी निकल ही रहा है .....और और्कुट और फ़ेसबुक पर तो ऐसे छिछोरों ने बाकायदा जाल बिछा रखा है ..........और जरूरी तो नहीं कि छोछोरपने के साथ आप ब्लॉगिगंग नहीं कर सकते । मेरी हालत तो उन बालाओं से गई गुजरी हो गई है ......जिन्हें कम से कम छिछोरे तो सहेलियां नहीं मिले...मिले तो ....अरे मारिए गोली ......नाम लेना क्या ठीक लगता है ........लोगबाग उनके प्रेमपत्र तक छाप देते हैं ...(एंड विदाउट नोईंग दैट , इन छिछोरापन दीज़ थिंग्स आर नॉट अलाऊड यार ...........) मगर हम ऐसा नहीं करेंगे ।


हम तो बिल्कुल नहीं बताएंगे कि पट्ठे , पासपोर्ट साईज़ की फ़ोटो देख भी , जाने कैसे कंधे, और कमर तक की तारीफ़ कर जाते हैं ........इतना बढिया तो स्कैनर भी नहीं कर पाता .....। तो हे छोछोरों .......आप सबसे मेरी प्रार्थना है ....वैसे तो सुना है कि आप लोगों को फ़्रेंच किस्स से बात ज्यादा समझ में आती है .....कि आप किसी और को पकडिए ..........अरे यार कोई न कोई तो मिल ही जाएगा ....छिछोरापन इंज्वाय करने वाला .......................

32 टिप्‍पणियां:

  1. पासपोर्ट साईज़ की फ़ोटो देख, जाने कैसे कंधे, और कमर तक की तारीफ़

    और बिना फोटो देखे?

    उत्तर देंहटाएं
  2. Jee chhichhoron se to har koi mukhatib hota hai... aur rahi baat aapkee to yahi maan lijiyega ki... "ashiqi mein har ashiq ho jata hai majboor, ismei dil ka kya kusoor"
    But well written...

    उत्तर देंहटाएं
  3. वैसे तो मै अभी तक अपने पतिदेव की बदलती तस्वीरों से परेशान ही थी- कभी दाढी+मूंछ ,कभी सफाचट मैदान, कभी टी-शर्ट् कभी कुर्ता पायजामा, कभी फुल शर्ट ,कभी जींस ,हर बार अलग अलग लुक (मैने ये तय कर लिया कि इन्हे प्रयोग करने की सनक है, और इस बीमारी की कोई दवा मेरे पास नही है)
    अब यही बीमारी आपको भी!!!!!!!!
    वैसे लेख मे कटाक्ष अच्छा लगा

    उत्तर देंहटाएं
  4. पाबला जी जैसी फोटो लगाएँ फिर देखें :)

    उत्तर देंहटाएं
  5. हां-हां... , इसे कहते है कही पे निगाहें कही पे निशाना !एक ही पत्थर से कई कई चिड़ियाए मार दी आपने तो !

    उत्तर देंहटाएं
  6. आपकी रचनात्मक ,खूबसूरत और भावमयी
    प्रस्तुति के प्रति मेरे भावों का समन्वय
    कल (13/9/2010) के चर्चा मंच पर देखियेगा
    और अपने विचारों से चर्चामंच पर आकर
    अवगत कराइयेगा।
    http://charchamanch.blogspot.com

    उत्तर देंहटाएं
  7. भईया जब सफ़ा चट मुछे होंगी जो ..... दोवारा से मुछे रख ले

    उत्तर देंहटाएं
  8. बेहद सटीक सिक्सर मारा झा जी आज तो.:)

    रामराम.

    उत्तर देंहटाएं
  9. :):) करते रहिये सावधान ...पर वो नहीं छोड़ेंगे छिछोरापन ..

    इतनी क्यूट सी फोटो लगायी काहे है ?

    उत्तर देंहटाएं
  10. हा हा हा अजय भाई मुंह की बात छीन ली आपने -आपतो माशाअल्लाह कुछ लगते भी हो :) सालों ने जीना मुहाल कर दिया है जब भी फेसबुक पर जाओ शुरू हो जाते हैं -कुछ को इतना डांटा है अब बैन करूंगा ...

    उत्तर देंहटाएं
  11. छिछोरा यूनियन जिंदाबाद.. छिछोरों तुम संघर्ष करो.. हम तुम्हारे साथ हैं..
    वैसे ये सब आपकी दोहरी नीति है.. पहले खुद ही चिकने बन के फोटो लगाते हैं फिर गेबाजों को गाली देते हैं देखिये तो ज़रा.. .. :D

    उत्तर देंहटाएं
  12. अजय भाई मैं जो बात लिखना चाह रही थी वो दीपक ने लिख दी है। आपको क्‍या जरूरत थी फोटो बदलने की। वैसे मुझे तो बहुत ही आनन्‍द आ रहा है इस समस्‍या पर। अब हम भी कह सकेंगे कि कायदे से रहा करो, ऐसे वैसे कपड़े ना पहना करो। हा हा हा हा।

    उत्तर देंहटाएं
  13. deepak bhaai aur ajit jee se poorn sahmat
    vaise samasyaa bastav mai badh rahee hai in chhichhoro kee

    उत्तर देंहटाएं
  14. हा हा!! हमारी फोटो लगा लो अगर पाबला जी न दें तो...:)_

    उत्तर देंहटाएं
  15. जाने दीजिये, वैसे ही ध्वस्त हैं ये।

    उत्तर देंहटाएं
  16. समीर जी का ऑफ़र मान लीजिए
    क्योंकि
    हमें भी पिछले हफ़्ते एक ऑफ़र आ चुका :-)

    उत्तर देंहटाएं
  17. आफर फर फर
    या इलाही
    ये माजरा क्‍या है
    कोई मुझे भी बतलायेगा।

    उत्तर देंहटाएं
  18. अब झा जी, फेयर एंड लवली लगाकर इतने क्यूट बनोगे, तो ये दिन तो देखने ही पड़ेंगे न...

    वैसे हमें यकीन है कि ये ब्लॉगिंग का लाडला बिगड़ेगा नहीं...

    जय हिंद...

    उत्तर देंहटाएं
  19. इन छिछोरों की बात मत पूछो जी
    इनने क्या किया और क्या करेंगे?

    हम भी कुछ दिन हलकान थे इनसे। वहां जाना ही छोड़ दिया था और हमें इनको ब्लाक करना नहीं मालूम था। एक दिन कविता जी दिख गयी वहां फ़ेस बुक पर। हमने उनसे गुहार लगाई। तब उन्होने हमें फ़्रेंड लिस्ट से भगाना बताया।
    तब जाकर इनसे पीछा छूटा।
    हमने उनको तहेदिल से बार बार धन्यवाद दिया।
    एक बड़ी मुसीबत से पीछा छोड़ाने के लिए।

    आर्कुट में हमारी फ़्रेंडलिस्ट में लगभग 400 मित्र थे। लेकिन इन छिछोरों के कारण हमने एक दिन गुस्से में आकर आर्कुट ही डीलिट कर दिया। अब मुस्किल से 40 ब्लागर साथी हैं जिन्हे हम जानते हैं।

    उत्तर देंहटाएं
  20. koi aap sae milane ki chaah facebook par aakar kartaa haen aur aap usko blogspot par hadkaatey haen

    उत्तर देंहटाएं
  21. "पासपोर्ट साईज़ की फ़ोटो देख, जाने कैसे कंधे, और कमर तक की तारीफ़"
    हा हा हा हा।

    उत्तर देंहटाएं
  22. हम आपके दुःख में सामिल हूँ..:)
    हाँ नहीं तो..!!

    उत्तर देंहटाएं
  23. बहुते जोर से सामिल हूँ...
    :):)

    उत्तर देंहटाएं
  24. .
    I very much enjoyed the chhichhorapan.

    Nice post !...quite innovative . !

    Regards,

    .

    उत्तर देंहटाएं

पढ़ लिए न..अब टीपीए....मुदा एगो बात का ध्यान रखियेगा..किसी के प्रति गुस्सा मत निकालिएगा..अरे हमरे लिए नहीं..हमपे हैं .....तो निकालिए न...और दूसरों के लिए.....मगर जानते हैं ..जो काम मीठे बोल और भाषा करते हैं ...कोई और भाषा नहीं कर पाती..आजमा के देखिये..

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

Google+ Followers