इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.

शनिवार, 17 अप्रैल 2010

नो चर्चा , ओनली सूचना : अपनी ब्लोग्गिंग , अपनी कमाई

 

 

 

 

जी हां आज कोई चर्चा नहीं , वैसे भी ये तो हिंदी ब्लोग्गर्स ही हैं जो तरह तरह की चर्चाएं झेल रहे हैं एक ही दिन में , जाने कितनी कितनी बार । और कुछ हमारे जैसे ब्लोग्गर भाई बंधु , पता नहीं इतने फ़जीहत के बाद भी ढीठ की तरह चर्चाएं पढवाने पर तुले बैठे हैं । भाई उन सबसे तो थोडे में यही कहा जा सकता है कि जब तक पोस्टें लिखी जाती रहेंगी तब तक उनकी चर्चा भी होती रहेगी । अब इससे क्या फ़र्क पडता है कि झाजी करें , या कोई और …क्योंकि आपकी नज़र में सारे चर्चाकार पक्षपाती और पूर्वाग्रह से ग्रस्त होते हैं , गुट बनाकर चर्चा करते हैं । चलिए आप अपना स्नेह इसी तरह से सभी चर्चाकारों पर बरसाते रहें , आखिर कभी न कभी तो कुछ लुढक ही जाएंगे न । मगर मैं तो आज सिर्फ़ कुछ सूचनाएं देने आया हूं जी । अरे भाई कोई ऐसी वैसी सूचना नहीं है । जी इतनी कडक महंगाई में ,ब्लोग्गिंग से आपको ईनाम शिनाम के रूप में ही सही कुछ नकद नारायाण मिलेगा और दूसरी तरफ़ खुद को अभिव्य्क्त करने का मौका भी ।

 

१.

image

प्रिय ब्लागर मित्रगणों,
हमें वैशाखनंदन सम्मान प्रतियोगिता के लिये निरंतर बहुत से मित्रों की प्रविष्टियां प्राप्त हो रही हैं. जिनकी भी रचनाएं शामिल की गई हैं उन्हें व्यक्तिगत रूप से सूचित कर दिया गया है. ताऊजी डाट काम पर हमने प्रतियोगिता में शामिल रचनाओं का प्रकाशन शुरु कर दिया है जिसके अंतर्गत आज श्री अविनाश वाचस्पति की रचना पढिये.
आपसे एक विनम्र निवेदन है कि आप अपना संक्षिप्त परिचय और ब्लाग लिंक प्रविष्टी के साथ अवश्य भेजे जिसे हम यहां आपकी रचना के साथ प्रकाशित कर सकें. इस प्रतियोगिता मे आप अपनी रचनाएं 30 अप्रेल 2010 तक contest@taau.in पर भिजवा सकते हैं.

२.

Home  »  ब्लागस्पाट क्यूं ? अब ब्लॉगप्रहरी पर ब्लॉग करें ! ब्लॉगिंग से पैसे की शुरुआत ..

यहां प्रकाशित हुई। आप लेखक के ब्लाग पर जाकर भी अपनी प्रतिक्रिया दे सकते हैं।

ब्लागस्पाट क्यूं ? अब ब्लॉगप्रहरी पर ब्लॉग करें ! ब्लॉगिंग से पैसे की शुरुआत ..

Tagged with: announcements blogprahari Featured KANISHKA KASHYAP

जैसा की आप जानते हैं ब्लॉगप्रहरी लगातार ब्लॉग जगत को एक सशक्त माध्यम बनाने को लेकर प्रयासरत है. परन्तु हम सब की व्यक्तिगत कोशिशे अपनी जगह है और सामूहिक प्रयास अलग मायने रखता है. हम सब में से कोई भी अगर सच में एक सशक्त मंच खड़ा करना चाहता है तो उसे एक टीम , एक बड़ी इक्षाशक्ति की आवश्यकता है . और टीम खड़ी करना , आज के समय में जहाँ हर कोई खुद को विशिष्ट समझता हो, एक बड़ी चुनौती है.


पिछले कुछ दिनों से मैं वह कुछ नहीं कर पाया जो उद्देश्य लेकर ब्लॉगप्रहरी की शुरुआत की थी . नियुक्त ब्लॉगप्रहरियों का सहयोग भी नाममात्र का रहा .हालाँकि रजिस्टर्ड users की संख्या ४१२ हो गयी है , और यह एक उपलब्धि है . पर बहुत अफ़सोस होता है जब कोई पोस्ट में उन्ही बातों को किसी के द्वारा लिखा हुआ पाता हूँ ..
मसलन … ब्लॉगजगत में सुचिता का आभाव है, व्यक्तिगत आरोप-प्रत्यारोप नहीं होने चाहिए , सार्थक पहल हो, सार्थक बातचीत हो … धार्मिक आंदोलनों की मशाल यहाँ नहीं जलनी चाहिए … वगैरह वगैरह ….
शायद यहीं सब बातें मैंने भी की थी , जब ब्लॉगप्रहरी की शुरुआत की . परीक्षाओं में व्यस्तता की वजह से मैं ज्यादा सक्रिय नहीं रह पाया . एक स्टाफ रखा है पर वह भी तकनीकी रूप से दक्ष नहीं . और साच कहूँ तो ऐसी किसी दक्षता से ज्यादा विजनरी होने की आवश्यकता होती है .

पर सभी को यह बात समझनी होगी की किसी भी बड़े उद्देश्य की पूर्ति के लिए , उसे वहीँ रास्ते पर चलना होगा जिस रास्ते पर कई गुजर रहे है , उसे भी टीम खड़ी करनी होगी. चल अकेला …. वाली धुन यहाँ गुनगुनाने से बड़े लक्ष्य हासिल नहीं किये जा सकते .
मैं कुछ व्यक्तिगत बातें भी आपसे बता दूँ. मैं पत्रकारिता का क्षात्र हूँ, अगले महीने अपनी शिक्षा,( जामिया मिल्लिया इस्लामिया से पत्रकारिता का कोर्स) ख़त्म कर रहा हूँ. मेरे समक्ष दो विकल्प है, या तो किसी चैनल में जा कर अपनी ऐसी तैसी करूं या एक रास्ता तैयार करुं, अपने लिए ….हम सब के लिए …. इस दिशा में तीन प्रयास हैं.
१. विचारमीमांसा डोट कॉम को स्थापित करना ( जो एक दैनिक समाचार पात्र के भांति, गैर-व्यवसायिक पत्रकारों द्वारा संचालित वेब -मैगज़ीन होगी .)
कारण : हम या हम सब में से आज तक कोई भी डोट कॉम या पोर्टल जो किसी बड़े मीडिया हाउस द्वारा संचालित नहीं होता हो, वैकल्पिक मीडिया का रूप नहीं ले सका. वजह सिर्फ एक हीं है . आप जब अख़बार खरीदते हैं या बी बी सी , जागरण जैसी साइट्स पर जाते हैं, टी वी ऑन करते हैं तो यह सुनिश्चित होता है कि उस वक़्त के सारे ताज़ा घटनाक्रम आपके सामने है. यानि आप अप- टू-डेट हैं . परन्तु एक भी ऐसा वैकल्पिक माध्यम बताइए जहाँ जाकर आपको यह आश्वस्तता मिल सके .अपने अपने निजी ब्लॉग के आलावा हम सबकी जिम्मेदारी है ..एक विकल्प खड़ा करने की. और मैं मेनस्ट्रीम की पत्रकारिता को त्याग कर इसी मुहीम में अपना भविष्य लगाने जा रहा हूँ . उम्मीद है आपका अनुज , जो युवा है (मात्र २३ साल ) :) , तकनीकी रूप से सक्षम है , और पत्रकारिता का अनुभव और माद्दा रखता है , के लिए आप सब का सहयोग मिलेगा . इस दिशा में मैं आप सभी की व्यक्तिगत रूप से सहयोग की अपेक्षा करता हूँ . विचारमीमांसा पर आप सब अपने क्षेत्र-विशेष , रुचि- विशेष की खबरें या लेख प्रकाशित कर एक वैकल्पिक मीडिया के रूप में , सशक्त मंच की स्थापना करें .

 

अब बात करें मुद्दे की :

ब्लॉगप्रहरी पर ब्लॉग लिखने या पोस्ट करने के लिए, log-in करने के लिए या प्रतिक्रिया करने के लिए… सभी के लिए आपको POINTS मिलेंगी . जो ब्लॉगर सर्वाधिक POINTS अर्जित करेगा उसे ..उसके द्वारा अर्जित points के बराबर राशी बतौर पुरस्कार दी जाएगी . और अपनी आर्थिक क्षमता के हिसाब से अभी यह केवल सबसे बड़े ब्लॉगर के लिए है. आगे चल कर इसे १० बड़े ब्लॉगर के लिए करने की योजना है . ऐसी किसी भी पहल को लेकर कई दफा अविनाश वाचस्पति जी , अलबेला खत्री जी और खुशदीप सहगल जी से बातचित हो चुकी है. जैसे हीं हमारी आय का कोई साधन निकल आएगा ..वह राशी आगे खर्च करने में संकोच नहीं . फिलहाल तो जो अपने जेब से बन पड़े
यह राशी 5000 -10,000 तक भी हो सकती है . यह आपकी सक्रियता पर निर्भर करता है.

तो देर किस बात की अभी लोग- इन करें ब्लॉगप्रहरी पर और शुरू हो जाएँ . जब ब्लॉगर पैसा देगा , गूगल adsense पैसा देगा तब वापस यहाँ खपत करेंगे, अपनी उर्जा , समय और बुद्धि की !

http://www.blogprahari.com/wp-login.php

 

\

Friday, April 16, 2010           

अब ब्लोगरों को अपने टिप्पणियों और सबसे ज्यादा सराहे गए टिप्पणियों पर ह़र हप्ते मिलेगा इनाम / इनाम कि राशी अकाउंट पेयी चेक द्वारा कुरिअर से उनके घरपर पहुँचाया जायेगा ---------

आज  से ही ब्लोगरों को अपने अच्छे सोच पर इनाम के रूप में कमाने का मौका / http://honestyprojectrealdemocracy.blogspot.com/         ने अपने पोस्ट  सभी ब्लोगरों से करबद्ध प्रार्थना है कि इस ब्लॉग को जरूर पढ़ें और अपना बहुमूल्य सुझाव देने का कष्ट करें----- देश के संसद और राज्य के विधानसभाओं के दोनों सदनों में आम जनता के द्वारा प्रश्न काल के लिए साल में दो महीने आरक्षित होना चाहिए -------------- पर देश हित में ईमानदारी और गंभीरता से किये गए टिप्पणियों पर और उन में से सबसे ज्यादा सराहे गए टिप्पणियों को कटेगरी १-सबसे गंभीर टिप्पणी और केटेगरी २-सबसे ज्यादा सराहे गए टिप्पणी इन दोनों केटेगरी में ब्लोगरों को अपने टिप्पणियों और सबसे ज्यादा सराहे गए टिप्पणियों पर ह़र हप्ते मिलेगा इनाम / इनाम कि राशी अकाउंट पेयी चेक द्वारा कुरिअर से उनके घरपर पहुँचाया जायेगा / इनाम कि सूचना ह़र हप्ते के सोमबार को इस पोस्ट के सबसे ऊपर प्रकाशित किया जायेगा और इनाम का चेक मंगलवार को विजेता के पते पर ह़र हाल में भेज दिया जायेगा / ह़र हप्ते दोनों केटेगरी में इनाम कि राशी ५०० रुपया प्रति केटेगरी होगा / इन दोनों केटेगरी का इनाम किसी एक व्यक्ति को भी मिल सकता है अगर किसी ब्लोगर का टिप्पणी सबसे उम्दा हुआ और सबसे ज्यादा लोगों द्वारा सराहा भी गया तो /

इसमें एक ब्लोगर के लिए भाग लेने के दो मौके होंगे ,दोनों केटेगरी यानि एक बार तो आप अपनी उम्दा टिप्पणी कर सकते हैं और दूसरी बार किसी के टिप्पणी पर अपनी टिप्पणी कर सकते हैं / इस देश हित के इनामी प्रतियोगिता कि शुरूआत आज रात दिनांक १७/०४/२०१० के ठीक १२.०१ मिनट AM से होकर पूरे दो महीने यानि १३/०६/२०१० के रात्रि ११.५९ PM तक होकर समाप्त होगा / इसमें कुल १६ ब्लोगर इनाम पा सकेंगे क्योंकि इस हप्ते में सिर्फ दो दिन शेष रहने कि वजह से पहले इनाम कि घोषणा २६/०४/२०१० को और अंतिम इनाम कि घोषणा १४/०६/२०१० को किया जायेगा और हर हाल में  पहले इनाम कि राशी २७/०४/२०१० को और अंतिम इनाम कि राशी १५.०६.२०१० को विजेता ब्लोगर को भेज दिया जायेगा / इनाम तो इनाम कि जगह है लेकिन देश हित में आपकी सोच और विचारों को हम क्या कोइ भी किसी इनाम से नहीं तौल सकता है ? आपका देश हित का सोच अपने आप में अमूल्य और इस देश के उच्च संस्कार कि निशानी है / आशा है आप हमारे इस प्रयास में अपनी विचारों कि भागीदारी देने के साथ-साथ अपने मित्रों को भी प्रोत्साहित करेंगे / आपका जय कुमार झा

 

 

कुछ भी कभी भी में ….image

दूसरा और बहुत जरूरी उपाय है कि इतना लिखो , इतना लिखो ...मगर सकारात्मक , ..इतना प्यार उडेलो , इतने मुद्दे उठाओ कि ये सब अतडे पतडे ...उस सैलाब में बह जाएं या उस तूफ़ान में उड जाएं तिनके की तरह । ब्लोग परिकल्पना उत्सव जैसे प्रयासों को भरपूर समर्थन मिलना चाहिए , और ऐसे ही नए नए प्रयास शुरू किए जाने चाहिए । मैं खुद बहुत जल्द ही एक योजना की शुरूआत करने जा रहा हूं जिसमें प्रति माह एक ब्लोग्गर को उसके लेखन कार्य के लिए नकद रूप से पुरुस्कृत किए जाने की  योजना पर विचार हो रहा है ।

 

तो  भईया बस अब फ़िर मत कहिएगा कि ब्लोग्गिंग में तो कमाई धमाई होती नहीं है……उ का कहती हैं अदा जी …..हां नहीं तो …

 

कल मिलते हैं कुछ पोस्ट झलकियों के साथ

16 टिप्‍पणियां:

  1. आप भी कुछ इनाम वगैरह शुरु करिये तो जीता जाये और मजा आये कमाई का झा जी. :)

    उत्तर देंहटाएं
  2. अच्छा प्रयास कर रहे है आप, स्थिति सुधरेगी !

    उत्तर देंहटाएं
  3. chalo aaj se ham start karte he khuch tadke wala item likhane ka


    bahut khub

    shekhar kumawat

    http://kavyawani.blogspot.com/

    उत्तर देंहटाएं
  4. प्रयास बहुत अच्छ है मै दो माह तक फिर से सक्रिय हो पाऊँगी। देखती हूँ धन्यवाद्

    उत्तर देंहटाएं
  5. इस टिप्पणी को लेखक द्वारा हटा दिया गया है.

    उत्तर देंहटाएं
  6. DHNYWAD, LAGTA HAI BLOGAR SAB MILKAR APNI SARTHAK SOCH SE NA SIRF BLOGING KO CHMKAYENGE BALKI IS DESH KE BHAGY KO BHI JAROOR CHAMKAYENGE.US DIN KA INTJAR HAI !!!!!!!

    उत्तर देंहटाएं
  7. अगर आपका कोई गुट हो हमें भी शामिल कर लीजिएगा :-)

    उत्तर देंहटाएं
  8. इस नए प्रयास के लिए हमारी शुभकामनायें आपके साथ हैं।

    उत्तर देंहटाएं
  9. बहुत सुंदर जी मेरी शुभकामनायें आपके साथ हैं।

    उत्तर देंहटाएं
  10. ब्लॉगप्रहरी क्या है - वर्डप्रेस का भाई-भतीजा?

    उत्तर देंहटाएं
  11. अजय भैया ई त बड नीक भ गेल, यौ हिन्दी के लेख खाली के मैथिली के सेहो चलत....

    उत्तर देंहटाएं
  12. अजय जी
    आपका यह कदम ब्लागजगत के लिये "मील का पत्थर" बने ... यही शुभकामनाएं!
    श्याम कोरी 'उदय'

    उत्तर देंहटाएं
  13. जानकारी देने का शुक्रिया.....अच्छा प्रयास

    उत्तर देंहटाएं

पढ़ लिए न..अब टीपीए....मुदा एगो बात का ध्यान रखियेगा..किसी के प्रति गुस्सा मत निकालिएगा..अरे हमरे लिए नहीं..हमपे हैं .....तो निकालिए न...और दूसरों के लिए.....मगर जानते हैं ..जो काम मीठे बोल और भाषा करते हैं ...कोई और भाषा नहीं कर पाती..आजमा के देखिये..

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

Google+ Followers