इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.

मंगलवार, 5 जुलाई 2011

वन लाइनर चर्चा ---good morning headlines ---- झा जी कहिन


आपके अपने समाचार वाचक



एक संदेश बाबा रामदेव के लिए :
फ़ौरन ही पहुंचाया जाए


उधेडबुन :   
में ही इतनी सुंदर रचना


हिन्दू विवाह अधिनियम के अंतर्गत हिन्दू औऱ बौद्ध आपस में विवाह कर सकते हैं,उसके बाद तलाक भी इसी अधिनियम के अंतर्गत कर सकते हैं


नसबंदी कराओ, नैनो ले जाओ...,पडोसी की नसबंदी करवा के भी ली जा सकती है क्या ?


 अजनबी,ये तो अपना सा लगता है


लापता शब्द,फ़िर भी पोस्ट टनाटन तैयार


क्या करते हो आप जब ऐसा होता है :- यही, यानि कि एक पोस्ट ठेल देते हैं 





क्या हाऊस वाईफ़ का कोई अस्तित्व नहीं है :,जी उनके बिना तो हाऊस का ही कोई अस्तित्व नहीं है


सेंसर बोर्ड को नहीं सुनाई देते अश्लील गाने,क्या बात करते हैं , सुना है वहीं सबसे ज्यादा बजते हैं ये


क्या बिहार में मुसलमान होना गुनाह है ???,जी नहीं , कहीं भी , इंसान होना गुनाह है


क्यों खुद से झूठ बोलता है :   ,क्योंकि , सबसे सेफ़ है इसलिए


खो गया है चांद  :,ओह , चंद्र ग्रहण का असर अब जाके पडा


आप इसे क्या कहेंगे , उच्च कोटि का बलिदान , नादानी या बेवकूफ़ी :- कुछ नहीं , क्योंकि इसे पढ कर कुछ कहने की औकात किसी में नहीं है


टल्ला मारने का यंत्र :-  फ़ौरन खरीद के टल्ला मारना शुरू करें आप भी

 

 तो आज की हेडलाइंस समाप्त हुई , बुलेटिन शाम के आठ बजे पुन: प्रसारित किया जाएगा नई हेडलाइंस के साथ

 

6 टिप्‍पणियां:

  1. बढ़िया!

    शाम की बुलेटिन का भी है इंतज़ार

    उत्तर देंहटाएं
  2. अजय भाई, आपने तो बहुत कुछ कह दिया है.
    पडोसी की नसबंदी से 'नैनों' न भी मिले पर
    'नैन'ही रह जाये तो गनीमत समझों.वर्ना
    खुशदीप भाई से पूछ लीजियेगा.

    आपका इंतजार है.

    उत्तर देंहटाएं
  3. दो लाइना के बाद आज एक लाइना तो बड़ी जोरदार लगी... बधाई एक लाइना के लिए ....

    उत्तर देंहटाएं

पढ़ लिए न..अब टीपीए....मुदा एगो बात का ध्यान रखियेगा..किसी के प्रति गुस्सा मत निकालिएगा..अरे हमरे लिए नहीं..हमपे हैं .....तो निकालिए न...और दूसरों के लिए.....मगर जानते हैं ..जो काम मीठे बोल और भाषा करते हैं ...कोई और भाषा नहीं कर पाती..आजमा के देखिये..

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

Google+ Followers