इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.

शनिवार, 16 जुलाई 2011

वन लाइनर ..जस्ट ए झा जी कट



तो हे श्रोताओं , एवं पाठकों ओह , दर्शकों भी ..आज के वन लाइनर बुलेटिन कुछ इसी प्रकार के हैं ..बांचा जाए




रॉंग नंबर प्लीज : चाहिए कि , लग गया जी



क्या आपको याद था : माने हां कह देंगे तो मान जाइएगा क्या



हवा में उड गए 25 करोड के हीरे : आयं , अरे पुरवा थी कि पछवा हवा थी जी



जो बदलाव चाहते हैं , उन्हें ही कुछ करना होगा : और इसके लिए पहले इस पोस्ट को पढना होगा



वर्डप्रेस ब्लॉग या साइट में विजेट जोडना : इहां रतन भाई के पोस्ट पर सीखें , विधिवत रेसिपी है



जरा खबर की खबर भी ली जाए : और ऐसी कि वो खुद खबर बन जाए



क्या हमारी मीडिया भटक गई है :  नहीं , वो पैसे और टीआरपी के फ़ेर में अटक गई है



 सोच रहा हूं कि हर चीज़ में एक Good होता ही है : फ़ुर्सत में सोचिएगा तो गुडे न होता दिखेगा जी



 पत्रकार को नोटिस भेज सकता है महिला आयोग : खबरों पर मेरी नज़र इन झाजी इश्टाईल : खाली इश्टाइले में चूर रहते हैं जी , पढिए लिखिए , इश्टाईल कम मारिए




 देख लेना जब जिस्म में रूह न रहेगी : उफ़्फ़ जाने तब ये नज़र रहेगी न रहेगी



 एक खबर ये भी ले ही लो : बिना दिए मानिएगा ही नहीं आप




 किस पर लिखूं : ब्लॉगर , वर्डप्रेस , नेटलॉग , वेबलॉग किसी पर भी शुरू हो जाइए




इस बार का भारत प्रवास : सुख दुख का संगम रहा , है न




आखिर क्यूं पटरी पर लौटी मुंबई : ताकि फ़िर अगले हमले के लिए खुद को तैयार कर सके





अब क्रिकेट की भी खैर नहीं ! सरकारी खजाना लूटने के बाद अब नज़र क्रिकेट के खजाने पर :   एक तो ये नज़र ही ससुरी बहुत कमीनी है ई लोगन की जी



सवाल ये है कि बच्चों को ब्लॉग पर लाया कैसे जाए : आपही ने उठाया है , उत्तर भी बताया ऐसे जाए




आप उनको याद आयेंगे : और हम पोस्ट लिख जायेंगे




मक्खन का हाल कैसा है पता भी है आपको : नहीं , लेकिन ये पता है कि आपको पक्का पता होगा , देखा , है न



मेरा बचपन ऐसे बीता :  है हर पन्ना एक युग जीता




 सम्मान किसे अधिक मिलता है : जो पोस्ट पढता भी है और उस पर टीपता भी है




सब कुछ मेरी आंखों के सामने हुआ : आंख घुमा काहे नहीं लिए जी



गुजर जाएं करार आते आते : और लुट जाएं , बिहार आते आते ( धुन के हिसाब से यही फ़िट लग रहा था )



सूना, बारिश के भहराए शोर में : पढिएगा रात में , झुरझुराइएगा भोर में




 आखिर कब तक : शायद अनंत काल तक






14 टिप्‍पणियां:

  1. बड़ा गुड-गुड टाइप का वन लाइनर है जी।

    उत्तर देंहटाएं
  2. वाह झा जी ... क्या कहने ... और आज तो हमारी २ लाइन की पोस्ट भी शामिल किये है आप अपनी एक लाइना में ... आभार !!

    उत्तर देंहटाएं
  3. वाह! कमाल का वन लाइनर है.
    अजय भाई खूबसूरत पंच मारते हैं आप.
    मुझे क्यूँ भुला दिया आपने?

    उत्तर देंहटाएं
  4. पूरी चर्चा से नहीं, वनलाइनर से डर लगता है साहब....

    प्रतिक्रिया दबंग स्टाइल...

    जय हिंद...

    उत्तर देंहटाएं
  5. जोरदार है जी आपका कट, कट नहीं विकट है. पोस्‍ट का शीर्षक भी सोच कर लगाना होगा.

    उत्तर देंहटाएं
  6. आंख घुमा काहे नहीं लिए जी
    :-)
    जोरदार है जी

    उत्तर देंहटाएं
  7. ये वन लाइनर तो बहुत ही रोचक और लाजबाब है झाजी

    उत्तर देंहटाएं
  8. मेरे पोस्ट पर आपका स्वागत है जी

    उत्तर देंहटाएं
  9. वाकई आप कमाल करते हैं। इतने सारे ब्लॉग को इतने मन से पढ़ना और पोस्ट तैयार करना मेरे लिए तो बहुत कठिन काम है।

    उत्तर देंहटाएं
  10. एक वाक्य की ताकत आपसे सीखी जाये।

    उत्तर देंहटाएं
  11. मेरे अनुसरण करने के बाद आपके निन्यानवे अनुसरण करने वाले हो गए है. शतक के लिए तैयार हो जाइये. मौका मिले तो हमरे ब्लॉग पर आइयेगा जी अपना वन लाइनर इस्टाइल में टिप्पणी करके दिखाइएगा जी .

    उत्तर देंहटाएं

पढ़ लिए न..अब टीपीए....मुदा एगो बात का ध्यान रखियेगा..किसी के प्रति गुस्सा मत निकालिएगा..अरे हमरे लिए नहीं..हमपे हैं .....तो निकालिए न...और दूसरों के लिए.....मगर जानते हैं ..जो काम मीठे बोल और भाषा करते हैं ...कोई और भाषा नहीं कर पाती..आजमा के देखिये..

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

Google+ Followers