इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.

शुक्रवार, 5 जून 2009

सुना है...पर्यावरण दिवस पर.....

पर्यावरण दिवस को, छोटे में, कुछ यूँ, मनाया हमने, उन्होंने किये वादे, दोहराए संकल्प, बस सच, दिखाया हमने, सुना है , इक कार, सबको , सस्ते में मिलेगी, धुंआ तो , वो भी छोडेगी, आखिर , सड़क पर चलेगी, सुना है,कोरिया ने, कूलर से सस्ता, ऐसी बनाया है, सी ऍफ़ सी, गैस न निकले, क्या कोई ऐसा, यन्त्र लगाया है...? सुना है, इको संतुलन को, अमरीका भी तैयार है, ढूंढ रहा है सी आई ए, उसे जो , पर्यावरण, असनतुलन का, जिम्मेदार है.....

और जैसे ही वो मिल जाएगा... हम उसे पकड़ कर सभी प्रदूशानो से मुक्त हो जायेंगे...आप भी तलाश जारी रखें.....

1 टिप्पणी:

  1. बहुत खूब।तलाश जारी रहे।

    सादर
    श्यामल सुमन
    09955373288
    www.manoramsuman.blogspot.com
    shyamalsuman@gmail.com

    उत्तर देंहटाएं

पढ़ लिए न..अब टीपीए....मुदा एगो बात का ध्यान रखियेगा..किसी के प्रति गुस्सा मत निकालिएगा..अरे हमरे लिए नहीं..हमपे हैं .....तो निकालिए न...और दूसरों के लिए.....मगर जानते हैं ..जो काम मीठे बोल और भाषा करते हैं ...कोई और भाषा नहीं कर पाती..आजमा के देखिये..

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

Google+ Followers