इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.

शनिवार, 6 फ़रवरी 2010

ये पोस्ट चर्चा नहीं सिर्फ़ मेरे द्वारा पढी गई कुछ पोस्टों का लिंक है आप भी पढ सकते हैं

मुझे लगता है कि चिट्ठाचर्चा के नाम से इतनी उठापटक चल रही है , अब तो सीधे सीधे इसे यही कह दूं कि ये रही उन पोस्टों की लिंक जो आज मैं पढते पढते लगा पाया । अब इसका मतलब ये कतई न लगाया जाए कि इसके अलावा कुछ नहीं पढा क्योंकि मैं कितना और कितने ब्लोग्स पढता हूं , कहां कहां जाकर पढ लेता हूं , इसका अंदाज़ा तो अब मुझे भी नहीं रहा ,खैर छोडिये , आप तो ये देखिए



कल मिलेंगे ब्लोग्गर्स बंधु, बस बीते आज की रात ॥


इसे आज नहीं पढा तो क्या पढा दोस्त ॥



टिप्पणी प्रभु, टिप्पणी दाता, टिप्पणी की महिमा अपरंपार,



पद्म, श्री, और बाकी का भी बजा दिया है बैंड ॥



आप भी देखिए किस किस की पोस्ट ली है ॥



संतानों के लिए तो उनके माता पिता ही नायक हैं,




जब भी लिखता है कोई विवादित टिप्पणी मिली है ॥



इश्वर करे ऐसी ही चर्चा हो रोज रोज ,



ताऊ जी साप्ताहि पहेली अनोखा अंदाज़ है ,



आज की पोस्टों में ये पोस्ट छोड रही अपना छाप,



जरूर एलियन जी ने ही दिया होगा उसे निमंत्रण



हम सजाते आंगन , वो देते हैं लीप



राज भाई खूब मिलमिला और बतिया रहे हैं ,



रानी विशाल ने रची कविता , बेटी का जन्म,



लंठ आलसी पर फ़ाग का ये रंग चढा,


अराधना के ब्लोग में पढिए पिल्ला कथा का अंत,



हमने तो देखा और मुंह से निकला वाह प्रशांत भाई ॥



शंकर जी ने टेंशन प्वाईंट में दिया सको लठिया ,




शास्त्री जी जब भी कहते हैं , कहते हैं खरी खरी ॥



सागरनामा हूं, मगर मैं खारा नहीं हूं ,



कह रही हैं मनोरमा, फ़ेसबुक पर फ़तवा हुआ है जारी ,



चलिए बहुत पढ लिए अब हो जाए हो कुछ पेट पूजा की बात,






19 टिप्‍पणियां:

  1. सबसे अद्यतन -बड़ी तेज चिट्ठाचर्चा है यह तो !

    उत्तर देंहटाएं
  2. मुझे इस चर्चा से बहुत ख़ुशी हुई....क्यूंकि.... कल की सबसे सर्वश्रेष्ट रचा शिखा जी की "मेरा हीरो" वाली पोस्ट थी...और इस पोस्ट की कहीं चर्चा नहीं होती तो यह बहुत बड़ी नाइंसाफी होती...... मैं आपका आभारी हूँ.... कि आपने शिखा जी की पोस्ट को अपनी चर्चा में यथोचित स्थान दिया.... बहुत बहुत बहुत बहुत बहुत बहुत बहुत .........(n number of) आभारी हूँ........

    उत्तर देंहटाएं
  3. जहाँ कल जा रहे हैं झा जी..वो मीट नहीं है
    आज जहाँ नजर आ रहे हैं वो चर्चा नहीं है...


    -हम तो सटपटा से गये हैं आपके तोड़ देखकर..:)

    वैसे आप पढ़े बहुत बढ़िया लिंक पर हैं जी.

    उत्तर देंहटाएं
  4. दिल्‍ली ब्‍लॉगर मिलन में पहुंचने वाले सभी डिजिटल कैमरा धारक ब्‍लॉगर अपने अपने कैमरे चित्रों को खींचने सहेजने के लिए ले आयें। उन्‍हें इसमें लगाने वाली रील का भुगतान कर दिया जायेगा। गंभीर हूं, मजाक न समझें। सिर्फ मजाक को मजाक और सच को सच मानें।

    उत्तर देंहटाएं
  5. आप की पसंद ही इतनी बेहतरीन है की चिट्ठा चर्चा जैसी लगती है.....हमने भी पढ़े कुछ आपके पसंद के पोस्ट...प्रस्तुति के लिए धन्यवाद

    उत्तर देंहटाएं
  6. आज चिट्ठा चर्चा के इसी फॉर्म की आवश्यकता है।

    उत्तर देंहटाएं
  7. वाह बहुत ही लाजवाब अंदाज है.

    कल के मिलन समारोह के लिये अति विशेष शुभकामनाएं. सभी उपस्थित होने वाले बंधू बांधवियों को हमारा रामराम कह दिजियेगा.

    रामराम.

    उत्तर देंहटाएं
  8. Jha ji,
    Dinesh ji ki baat se sahmat..
    bahut badhiyaan rahi aapki charcha..
    meri pravisthi shamil karne ke liye...aabhari hun..
    shukriya..

    उत्तर देंहटाएं
  9. बड़े इंतजार के बाद आए हैं
    चिट्ठा चर्चा का धमाल लाए हैं

    उत्तर देंहटाएं
  10. वाह!ये वाला इश्टाईल भी बढिया है।

    उत्तर देंहटाएं
  11. बहुत ही सुन्दर सुन्दर लिंक्स एक साथ देने के लिये धन्यवाद!

    उत्तर देंहटाएं
  12. ये भी चर्चा का एक नया प्रयोग है.

    http://hariprasadsharma.blogspot.com/
    http://sharatkenaareecharitra.blogspot.com/

    उत्तर देंहटाएं
  13. आदरणीय,
    आपकी यह पोस्ट बहुत अच्छा संकलन है ! मैं आपकी बहुत आभारी हू की इतनी उम्दा रचनाओ की श्रेणी में आपने मेरी कविता रखी और उसे पड़ा !
    कृतज्ञ
    http://kavyamanjusha.blogspot.com/

    उत्तर देंहटाएं
  14. वाह!! फटाफट न्यूज़ की तरह फटाफट चर्चा. धन्यवाद हमारा सही नाम लिखने के लिये.

    उत्तर देंहटाएं

पढ़ लिए न..अब टीपीए....मुदा एगो बात का ध्यान रखियेगा..किसी के प्रति गुस्सा मत निकालिएगा..अरे हमरे लिए नहीं..हमपे हैं .....तो निकालिए न...और दूसरों के लिए.....मगर जानते हैं ..जो काम मीठे बोल और भाषा करते हैं ...कोई और भाषा नहीं कर पाती..आजमा के देखिये..

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

Google+ Followers