इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.

गुरुवार, 31 मई 2012

आज कुछ तूफ़ानी करते हैं ..........











जब पिटरोल प्राईस बढाने का डिसीजन लिए थे बैड ,
उससे पहिले मंतरी जी लोग यही साईत देख रहे थे ऐड,
(आज कुछ तूफ़ानी करते हैं ....आज कुछ तूफ़ानी करते हैं )




सुबह अखबार में एक ठो जाने कैसी तो खबर छपी थी सैड ,
तेज़ रफ़्तार बाईक ने मारी टक्कर ,दो घायल एक डैड ,
(ऊ भी साईत घर से देख के निकले थे इहे ऐड , आज कुछ तूफ़ानी करते हैं ...आज कुछ तूफ़ानी करते हैं)




रिज्लट का सुन के , पूछे पापा , हाऊ मच नंबर यू गॉट माई लैड ,
बचवा खुश , हुलस के बोलिस , टोटल नाइटीएट परसेंट डैड ,
(परीक्षा देवे जाए से पहिले ऊहो साईत देख के निकला था ई ऐड , ...आज कुछ तूफ़ानी करते हैं , आज कुछ तूफ़ानी करते हैं ....)




जीता केकेआर त पगलेटवा शाहरूख , झूम के हो गया एकदम मैड ,
पूछा राज़ जीत का , त गंभीरवा धीरे से कान में बोला , ई था हमरा लकी पैड ,
(बकिया टीम को हम मैच से पहले दिखा दिए थे ई ऐड .......आज कुछ तूफ़ानी करते हैं ...आज कुछ तूफ़ानी करते हैं)




रिज्लट का सुन के , पूछे पापा , हाऊ मच नंबर यू गॉट माई लैड ,
बचवा खुश , हुलस के बोलिस , टोटल नाइटीएट परसेंट डैड ,
(परीक्षा देवे जाए से पहिले ऊहो साईत देख के निकला था ई ऐड , ...आज कुछ तूफ़ानी करते हैं , आज कुछ तूफ़ानी करते हैं ..)

4 टिप्‍पणियां:

पढ़ लिए न..अब टीपीए....मुदा एगो बात का ध्यान रखियेगा..किसी के प्रति गुस्सा मत निकालिएगा..अरे हमरे लिए नहीं..हमपे हैं .....तो निकालिए न...और दूसरों के लिए.....मगर जानते हैं ..जो काम मीठे बोल और भाषा करते हैं ...कोई और भाषा नहीं कर पाती..आजमा के देखिये..

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

Google+ Followers