इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.

रविवार, 23 दिसंबर 2007

वेलकम के बाद सीलमपुर

का हो भोला भैया वेलकम देखला कि ना , बहुत मजेदार है हम त सीधा वहीं से देख के आ रहे हैं।

आइन का कह रहा है रे पल्टू ,हम तो तोरा बहुत पहले ही कह दिए थे कि जा जाके देख कइसन शानदार बनाया है ट्राफिक का त समस्या सारा खत्म हो जायेगा ससुरा।

ई का कह रहे हो भोला भैया वेलकम से ई दिल्ली के त्रफिच्क्वा का ,का संबंध है हो ? अरे तू कौन वेलकम का बात कर रहे हो?


वेलकम मेट्रो स्टेशन आउऊ का , हमरे पता है जौन एक बार ऊ मेट्रो स्ताशन्वा पर पहुंच जाता है ऊ त बस ओकरे गुण गाने लगता है।

अरे नहीं भैया हम त ई नायका पिक्चर के बारे में बता रहे हैं अरे ई अक्षय कुमार आ ऊ अन्ग्रेज़ं छः फुटिया कटोरिया कैफ के जोरदार पिक्चर द कह रहे थे।

अरे तोरी के ई वेलकम stationwaa के नाम पर पिक्चरों बन गया । हमरे त पहले से ही पता था कि ई बम्बई वाला हीरो हेरोइन सब जैसे ही मेट्रो के बारे में सुनेगा जरूर पिक्चर बनाएगा । रे पलटू पता कर त कहीं ऐसन त नहीं चल रहा है कि वेलकम के बाद ई अपना सीलमपुर पर भी कौनो पिक्चर बनावे का पीरोग्राम हो। यदि ऐसन कौनो बात होगा त हम लोग भी तीराई मरल जाएगा कम से कम शूतिन्गवा में अपना लोग का ई झुग्गीअया सब का एक आध गो फोटो भी आ जाएगा त निगम बाला सब कहीं खुश हो अपना झुग्गी ना तोड।

मुदा भोला भैया हम त पूरा पिक्चर में कहीं भी वेकम stationwaa का कौना बात नहीं सुने ना ही ओकर फोटो देखे

अरे तोरा पता नहीं चला होगा कास्टिंग में दिखा दिया होगा। हमरा त मन कह रह है कि हो ना हो वेलकम के बाद सीलमपुर पिक्चर भी बंबे करेगा।




*यहाँ ये बता देना आवशयक है कि वेलकम और सीलमपुर दिल्ली के मेट्रो रूट पर पड़ने वाले दो स्टेशन हैं.

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

पढ़ लिए न..अब टीपीए....मुदा एगो बात का ध्यान रखियेगा..किसी के प्रति गुस्सा मत निकालिएगा..अरे हमरे लिए नहीं..हमपे हैं .....तो निकालिए न...और दूसरों के लिए.....मगर जानते हैं ..जो काम मीठे बोल और भाषा करते हैं ...कोई और भाषा नहीं कर पाती..आजमा के देखिये..

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

Google+ Followers