इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.

शुक्रवार, 1 अक्तूबर 2010

सॉरी ....जी , डॉक्टर ने जवाब दे दित्ता है .......... अजय कुमार झा











तो हुआ ये कि एक बीमार पत्नी ..अपने बहुत बीमार पति को लेकर डॉक्टर के पास गई ...

डॉक्टर ने पति की जांच पडताल करने के बाद उसे बाहर भेज दिया और पत्नी को अंदर बुलाया ,,,

क्या बात है डॉक्टर साहब ?

देखिए यदि आप............ एक साल तक , अपने पति को बोलने दें और आप सिर्फ़ सुनें , उनका पर्स में कुछ पैसे भी छोड दें , उन्हें सुबह स्वास्थवर्धक नाश्ता दें , हमेशा खुश वाले मूड में रहें ,रात को स्वादिष्ट खाना बनाएं , अपनी समस्याएं उनके सिर पर न पटकें , नए कपडे और शॉपिंग की मांग न करें ..और आखिर में बस ये कि सीरीयल न देखें तो ...शायद सब ठीक हो सकता है , "


वापसी में रास्ते में पति ने पत्नि से पूछा ..डॉक्टर ने क्या कहा

पत्नि ने कहा ," सॉरी ! डाक्टर ने जवाब दे दिया है ..."







एक लडका ..बाहर कहीं से पिट कर आया ..घर पहुंचने पर ..उसे बुरी तरह पिटा हुआ , टुंडा पुंडा ..सर पर गूमड निकला हुआ ..देख कर सबके क्या क्या रिएक्शन रहे देखिए ,

लडके की मां " हाय ! मेरे लाल को किसने ऐसे मारा , उसके हाथ क्यों नहीं टूट गए , हे भगवान आखिर तेरी मुझसे क्या दुश्मनी है "

लडके की दीदी " , ये तो होना ही था , मैं तो पहले ही कह रही थी कि इसकी संगत ठीक करो , जाने कहां कहां फ़िरता रहता है , आज पिट कर भी आ गया , हो गई ये हसरत भी पूरी "

लडके के पापा " कल से तेरा जेबखर्च आधा , आज पता चला है कि तू ये इतनी इतनी देर कौन से क्लासेस में रहता था ...मैं यहां तेरे लिए ..जाने क्या क्या ...जी तोड मेहनत कर रहा हूं और तू , निकल जा मेरी नज़रों के सामने से


लडके की प्रेमिका :- बस , आ गए कुत्ते की तरह पिट कर , कब से कह रही थी कि जिम शिम ज्वाईन करो , तुम्हारे अंदर तो कोई गट्स ही नहीं है , अब पडे रहना बिस्तर पर अगले चार दिनों तक , कल का दबंग का शो तो गया

और अंत में लडके के दोस्त " , अभी चल निकल , चल देखें तो कौन थे साले ..उनकी ...................एक करके आते हैं , सालों ने तुझे हाथ कैसे लगा दिया .....या पीटेंगे ..या पिट कर आएंगे


और अब एक सूक्त वाक्य ..अबे इसे मजाक में लेना भाई लोगों और सब माता जी लोग भी ...वैसे भी मैंने नहीं कहा ....रुकिए बताता हूं किसने एसएमएस किया है ..तब तक आप पढिए .

"आपकी जिंदगी में दो स्त्रियों का महत्व बहुत सबसे अधिक होता है , एक आपकी मम्मी जो इस संसार में आपको रोते हुए लेकर आती है , दूसरी आपकी पत्नि ....जो ये सुनिश्चित करती है कि ..आप जिंदगी भर रोते रहें ...""

चलिए अब कल .........

19 टिप्‍पणियां:

  1. हा.हा.हा.हा.हा.हा.हा.हा.

    बहुत अच्छी माइंड ब्लो कर गया...हा.हा.हा.

    उत्तर देंहटाएं
  2. वाह जी वकील साहब,
    मस्त अंदाज है।

    उत्तर देंहटाएं
  3. मस्त जी, लेकिन अब पत्नि युनियन से आप को कोन बचायेगा?

    उत्तर देंहटाएं
  4. डॉक्टर का नुस्खा तो सही था । बस अब एक अधिनियम बनना चाहिए कि डॉक्टर के लिखे नुस्खे का पालन होना चाहिए । तभी पत्नी पीड़ित पतियों को चैन मिलेगा ।

    उत्तर देंहटाएं
  5. अजय बाबू आज क्‍या बात है? रोते-रोते पोस्‍ट लिखी है या अब पिटते-पिटते टिप्‍पणियां पढोंगे? सुबह-सुबह आनन्‍द आ गया जी। बस ऐसे ही रोते रहो, हमारा आशीर्वाद।

    उत्तर देंहटाएं
  6. अपना भी हाल तेरे जैसा है,
    क्या करें हम भी मौसम ही ऐसा है...

    आज मेरी पोस्ट पर भी ऐसा ही दर्द है, एक पति ही दूसरे पति का दर्द समझ सकता है...

    जय हिंद...

    उत्तर देंहटाएं
  7. अरे वाह आनंद आ गया अजय जी ...
    महात्मा गाँधी और लाल बहादुर जी को जयंती अवसर पर शत शत नमन

    उत्तर देंहटाएं
  8. काश ऐसे डाक्टर सब जगह मिल जाएँ ....बहुत जोरदार झा साहिब ....

    उत्तर देंहटाएं

पढ़ लिए न..अब टीपीए....मुदा एगो बात का ध्यान रखियेगा..किसी के प्रति गुस्सा मत निकालिएगा..अरे हमरे लिए नहीं..हमपे हैं .....तो निकालिए न...और दूसरों के लिए.....मगर जानते हैं ..जो काम मीठे बोल और भाषा करते हैं ...कोई और भाषा नहीं कर पाती..आजमा के देखिये..

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

Google+ Followers