इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.

शनिवार, 3 नवंबर 2007

हो गया सेलेक्शन बीस- बीसिया टीम में

" jholtanma भैया , बहुत बडका खुसखबरी है । जान रहे हैं , हमारा सेलेक्शन ऊ जो बीस-बीसिया टीम है ना उसमे हो गया है । देखे ना हम कर दिए ना आपका नाम ऊँचा।"


"अबे, का कह रहा है,भुल्चुक्बा, । तेरा सेलेक्शन , वो भी क्रिकेट में ऊपर से २०-२० क्रिकेट में , क्या कह रह है पूरी बात बता। तेरा और क्रिकेट का क्या मेल ?"


हैं हैं, ऐसन बात कहे करते हो jholtanma भैया ।मेल त ऊ मंदिरा बेदी का भी कहाँ था क्रिकेट से आप ही बताइये त ।फिर हम प्रैक्टिस और मेह्नातो त कम नहीं ना किये थी ई पिछला बाला worldcup में ।


अमा पिछले worldcup में कहे की प्रक्तिस कर ली तू ने पूरी बात बता भुल्चुक्बेय॥

" बात ए है झोल्तान्मा भैया, कि पिछले worldcup में हम पूरा ध्यान्वा लगा कर देखे थे , एक एक स्टेप गौर से देखे आउउर सीखे थे कि किस्से चौका -छक्का लगते ही ऊ में आउउर ऊ लडिका सब एकदम धमाल नाचे लगता था। बस हम त तभी फ़ाइनल कर लिए कि एक दिन ई नचनिया टीम में हम जरूर शामिल होई जायेंगे। फिर जब अपना इहाँ बीस -बीसिया मैच हुआ त नाचानियाँ सब एकदम बेकार था। जान रहे हैं तभी हमको चांस दिया आ हो गया हमरा सेलेक्शन॥

अब देखियेगा , जब हम आ हमर टीम अपना परफॉर्मेंस देगी। अचा jholtanma भैया प्रणाम.

1 टिप्पणी:

पढ़ लिए न..अब टीपीए....मुदा एगो बात का ध्यान रखियेगा..किसी के प्रति गुस्सा मत निकालिएगा..अरे हमरे लिए नहीं..हमपे हैं .....तो निकालिए न...और दूसरों के लिए.....मगर जानते हैं ..जो काम मीठे बोल और भाषा करते हैं ...कोई और भाषा नहीं कर पाती..आजमा के देखिये..

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

Google+ Followers