इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.

मंगलवार, 11 अगस्त 2009

चिट्ठाचर्चा में जो हुआ ये अन्तराल, नेट कनेक्शन ने किया था बेहाल

जी हाँ ,...इरादा तो यही था ..की जब वापसी करेंगे....इस चिट्ठे पर चर्चा की तो कोशिश करेंगे की ..जल्दी से अन्तराल ना आये...और होता भी ऐसा ..मगर हमारे इस इरादे की खबर ..कमबख्त हमारे नेट कनेक्शन वाले को नहीं थी शायद..मुआ लगा नखरे दिखाने ..जब देखो ..डिस्कनेक्टेड...एक दिन दो दिन...एक ब्लॉगर को दो दिनों तक ..ब्लोगों को लिखने-पढने, टीपने जैसे मौलिक अरे नहीं नैटिक अधिकार ..अरे नेट से जुड़े अधिकार भाई .....से वंचित रहे तो काहे का पंद्रह अगस्त जी..हमने भी ..आखिरकार ..उसे फाईनल अल्टीमेटम दे ही दिया..साथ ही ताकीद कर दी की बेटा आज के आज यदि ..हमारा समबन्ध ब्लॉगजगत से स्थापित नहीं हुआ ..तो .उनसे तो कल को हो ही जाएगा ..मगर तुमसे न होगा..जान लो...खैर जैसे तैसे ...गाडी पटरी पर आ गयी....तो लीजिये हाजिर है ..हमारे अंदाज वाली चिट्ठी चर्चा ...

अभी हाल ही में पी डी बाबु गए घूमने पटना,
कैसे बना दोस्त पत्रकार , पढिये अद्भुत घटना

यदि ब्लॉग्गिंग की किसी भी समस्या से आप हैं परेशान,
इस क्लीनिक में हर रोग का होता है निदान

इस पोस्ट को पढ़ के आप हो जायेंगे हैरान,
अरहर की जीवनी का अद्भुत किया बखान

एक साल पूरे हुए इनके ...कैसे आये मन में भाव ...
किलो भर बधाई दें , ..टिप्प्न्नी एक पाव

अखबारों में हिंदी का मालिक भगवान् है...
नीचे वालों की हरकत से पाठक परेशान है ..

भाटिया जी को मातृशोक हुआ , दुःख बड़ा है भारी,
मुझे भी याद आ गयी ,अपनी माता प्यारी

सोसायटी को नहीं है दिक्कत ,,हाशमी को मिला मकान ,
बात से कैसे बनती है बतंगड़ ..आप लीजिये जान

आलसी के चिट्ठे पर बाऊ कथा है जारी ..
गिरिजेश जी की शैली , साहित्य जगत पर भारी

शुकल जी ने चर्चा कर दी, कहते हैं जैसी तैसी .
हमसे पूछिए तो हमें चाहिए रोज चर्चा ऐसी

नीतिश कुमार भी कट्टा निकले , नहीं तोप का गोला ,
ये तो उसका सच है भाई, मैंने कुछ नहीं बोला ...

राखी सावंत की पंचवर्षीय योजना का यहाँ पढिये संवाद ,
हाय राखी तूने कर दिया , किस किस को बर्बाद

पूछ रहे हैं मोहन जी मन से , अंधा प्यार है या इंसान,
हम तो दोनों श्रेणी में आ गए, क्या उत्तर दें श्रीमान

मुन्ना भाई, पिक्चर नहीं जी. इस पोस्ट का मजा लीजिये..
अरे हुजूर कभी कभी तो आप भी हँसा कीजिये

इसको पढिये , ये मत सोचिये , सिर्फ दो हजार का किस्सा है ,
आज न जाने कितने लोगों के यही जीवन का हिस्सा है

आज अदा ने लिखा कैसी सौलिड पोस्ट रे बाप,
क्या भाषा , क्या शैली , खुद देखिये आप....

सुना है किसान भी ब्लॉग लिखने लगे हैं,
अजी लिखने क्या , वे तो छपने लगे हैं

पंद्रह अगस्त के मौके पर बेरोजगार ने एक अनोखी पोस्ट कर दी पेश,
गुस्से में कहते हैं ..ये हाल रहा तो , इक दिन भाड़ में जाएगा देश




अच्छा जी अब ख़त्म करें बहुत हुई अब रात ....
इतना वादा करते हैं , अब रोज रहेंगे साथ ......

23 टिप्‍पणियां:

  1. बहुत सुन्दर प्रस्तुति

    वीनस केसरी

    उत्तर देंहटाएं
  2. बहुत बढिया चर्चा करते हैं .. बधाई !!

    उत्तर देंहटाएं
  3. हम तो बढ़िया चटखारे ले कर पढ़ते हैं इसे :-)

    उत्तर देंहटाएं

  4. झाजी के नेटवारे नेटवारे ने दिखाया ऎसा नखरा
    नखरा ओ नखरा तुम क्या जानो कितना अखरा

    उत्तर देंहटाएं
  5. बढ़िया है.. हमरा ध्यान तो जयहिन्द जयहिन्द में ज़ियादा रहा ..अजादी की शुभकामनायें । कौनो दिन हमरे इतिहास,विज्ञान,हिन्दी साहित्य,आलोचना और समाज के ब्लॉग पर भी नज़र डालियेगा..।

    उत्तर देंहटाएं
  6. आपकी प्रस्तुति का ढंग बहुत भाती है.

    उत्तर देंहटाएं
  7. नैट कनेक्शन कभी न कभी सभी को परेशान कर लेता है। पर इस बार आप के साथ औरों को भी अखरा। चर्चा से वंचित जो रह गए।

    उत्तर देंहटाएं
  8. ये तो पढली जी..अब आगे का ईंतजार करते हैं. आपके छंद पढने मे आनंद आता है.

    रामराम.

    उत्तर देंहटाएं
  9. हमारा नेट तो अभी भी नरेगा में प्रधान जी के कराए 'स्पेशल' गड्ढेदार खड़ंजे पर बैलगाड़ी की तरह चल रहा है। आज पहिया 'भास' गया। मतलब डाउन ।

    मोबाइल से कनेक्ट कर भेज रहा हूँ। इसको दो टिप्पणियों के बराबर मानें।

    उत्तर देंहटाएं
  10. नेट ने किया भले लेट
    पर न घटे चर्चा का कभी वेट
    आपकी चर्चा है कमाल
    जो करती है धमाल
    पढऩे वाला हो जाता है लाल
    गुलाबी हो जाते हैं गाल
    कुछ टिप्पणियों से लोग
    खुजाते होंगे बॉल
    और सुनाए झा जी
    क्या है आपका हाल

    उत्तर देंहटाएं
  11. सुन्दर चर्चा. झा जी आभार...

    उत्तर देंहटाएं
  12. नजारे बांध दिए
    चर्चा ने सारे

    बिखरे संवार दिए।

    उत्तर देंहटाएं
  13. Bahut sundar...lajwab prayas.

    "वन्देमातरम और मुस्लिम समाज" को देखें "शब्द-शिखर" की निगाह से...

    उत्तर देंहटाएं
  14. aisee charcha hoti rahe ...hame achchhi lagi .....bahut bahut badhaaee

    उत्तर देंहटाएं
  15. एकदम मस्त चर्चा
    बिन पानी बिन खर्चा

    उत्तर देंहटाएं
  16. चर्चे ही चर्चे में सबकी चर्चा कर दी...बहुत बढ़िया
    स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनायें..!!

    उत्तर देंहटाएं
  17. aapka chittha charcha hai solid aur jhakaas
    jaari rahiye jha ji ekdam bindaas

    उत्तर देंहटाएं

पढ़ लिए न..अब टीपीए....मुदा एगो बात का ध्यान रखियेगा..किसी के प्रति गुस्सा मत निकालिएगा..अरे हमरे लिए नहीं..हमपे हैं .....तो निकालिए न...और दूसरों के लिए.....मगर जानते हैं ..जो काम मीठे बोल और भाषा करते हैं ...कोई और भाषा नहीं कर पाती..आजमा के देखिये..

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

Google+ Followers