इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.

रविवार, 30 अगस्त 2009

रविवार की छुट्टी, चर्चा मीठी-खटटी..(चिटठी-चर्चा)


पिछले कुछ दिन में जितना उथल पुथल वाला पोस्ट सब पढे ...कि का कहें....आ सच कहें तो कुछ भी नहीं कहने का मन करता है..बस ब्लोग्गिंग किजीये जी सब लोग ..जम के किजीये....बंकिया सब छोडिये....



सबसे पहले आज गया इस पोस्ट पर ध्यान,


विवेक भाई ने इस पोस्ट में जाने किसे क्या समझाया,


जब जब वर्मा जी की कलम यूं लहरायेगी,


एक विजेट लगाने से दिखती हैं २५ पोस्ट..

ब्लोग जगत का एक ळंठ, अद्भुत है अंदाज़,


चिंता काहे की है, वकील साहब हाज़िर हैं श्रीमान.


ना पढलअ ई पोस्ट कहां पर ह सूतल हो,


बिनावजह नहीं लिखे हैं, जन्मदिन का है चिंतन,


कौन नहीं जानना चाहेगा, जब बता रह खुद समय..

महक का पूरे बरसात में, मन हो गया खटटा...

अब तक संगीता जी ने कई भविष्यवाणीयों से चौंकाया,


चल रही गणेश पूजा, कहीं हो रहा खिलवाड,


प्रशांत जी ने इस पोस्ट में कुछ खास है बताया,


क्या देखा सुना , जादू, पानी के बरसने का,


खबरों के धंधेबाजों के लिये ये संदेश है,


छोडिये, टंटा-लफ़डा, सारा, अब किजीये, स्माईल..


लगा हुआ है कई, ब्लोग्गर्स का कार्नीवल..


पोस्ट को पढिये, टिप्पणियां ठेलिये..


आलोक बाबू की शैली , सच में जानदार है..


इसीलिये तो जनता दुखी, और दुखी हुआ ये देश,


आउर का का कह्ते है, खुदही पढ लो भाया..


आज सबको ये , यही तो हैं लगे बताने,


अरे दुखी काहे होते हैं, रहिये अगली को तैयार...


गिनीज़ बुक तक पहला ब्लोग पहुंच ये पाया..


चलिये जी..इससे जादे चर्चियायेंगे ..तो फ़िर आपका पूरा रविवार व्यस्त हो जायेगा ..और रविवार में परिवार भी तो है..उसका भी तो सोचिये..हम चलते हैं....अरे बाहर नही....जी एक ठो दूसरका पोस्ट भी ठेलना है आज के आज....


































14 टिप्‍पणियां:

  1. चलो दीतवार की छुट्टी में चर्चा धाँसू, फाँसू और लंबी भी हुई।

    उत्तर देंहटाएं
  2. बहुते गजब चर्चियाते हैं आप तो. आपके छंद बडे कमाल के हैं.

    रामराम.

    उत्तर देंहटाएं
  3. चिट्ठा जगत को इतना समय कैसे दे पाते हैं आप ?

    उत्तर देंहटाएं
  4. हमें तो मीठी ही मीठी लगी यह चर्चा.

    उत्तर देंहटाएं

  5. लीजिये एक " टिप्पणी " भेज दिया, अब ?

    उत्तर देंहटाएं
  6. आपका ये छन्दमय चर्चा करने का तरीका तो गजब है!!!

    उत्तर देंहटाएं
  7. आपका यूं चर्चियाना बहुत भाता है.. हैपी ब्लॉगिंग

    उत्तर देंहटाएं
  8. जब हमारे पोस्ट आप को इम्प्रेस कर जाते है ,
    तो यह बतावे आपके छंदों में ,
    जगह क्यों नहीं बनते है ??


    खैर, बहुत बढ़िया लगी आज की पोस्ट |
    शुभकामनाये |

    उत्तर देंहटाएं
  9. बरिश की रिमझिम फूहार
    आपकी चर्चा से आई बहार

    उत्तर देंहटाएं

पढ़ लिए न..अब टीपीए....मुदा एगो बात का ध्यान रखियेगा..किसी के प्रति गुस्सा मत निकालिएगा..अरे हमरे लिए नहीं..हमपे हैं .....तो निकालिए न...और दूसरों के लिए.....मगर जानते हैं ..जो काम मीठे बोल और भाषा करते हैं ...कोई और भाषा नहीं कर पाती..आजमा के देखिये..

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

Google+ Followers